Monday, March 23, 2015

टी.वी.

एक दिन सहसा जब उमेश देर रात को घर आया तो मैंने देखा तो उसका पाँच साल का बेटा रोहन टी.वी. पर अपने मनपसंद कार्टून देख रहा था। उमेश ने अंदर जाकर उसकी पत्नी निशा से कहा- ''तुमने रोहन को अभी
तक सुलाया क्यों नही?''

"कब से तो कह रही हूँ, लेकिन इस टी.वी. के आगे वह मेरी सुनता ही कहां है? उसने तो आज खाना भी नही खाया।" - निशा ने थोड़ा चिंतित होते हुये कहा।

और अगले दिन दोपहर को रोहन के स्कूल से फोन आया, उसकी टीचर ने बताया की रोहन ने अपना होमवर्क
पिछले कई दिनों से नही किया है, और आजकल वह पढाई पर भी बिल्कुल ध्यान नहीं दे रहा है।

अब उमेश सचमुच चिंतित हो गया था, और मैं उस दिन के बारे मे सोच रहा था जिस दिन मै निशा की जिद की
वजह से अपने घर टी.वी. लाया था। मुझे अपनी भुल का एहसास हो रहा था।
Post a Comment